Latest Updates

जानिए मंदिर में घंटी बजाने का रहस्य

जानिए मंदिर में घंटी बजाने का रहस्य

जानिए मंदिर में घंटी बजाने का रहस्य है | जब सृष्टि का प्रारम्भ हुआ तब जो नाद (ध्वनि) था ,धंटी कि ध्वनि को उसी नाद का प्रतीक माना जाता है ।
यही नाद ओंकार के उच्चारण से भी जाग्रत होता है । जिन स्थानों पर घंटी बजने कि आवाज़ नियमित आती है | वहाँ का वातावरण हमेशा शुद्ध और पवित्र बना रहता है ।इससे #नकारात्मक_शक्तिया_समाप्त_होती_है ।नकारात्मकता समाप्त होने से समृद्धि के द्वार खुलते है । यह भी कहा जाता है कि घंटी बजाने से देवताओं के समक्ष आपकी हाजरी लग जाती है ।

#ये_फायदे_भी_हैं
– घंटी बजाने से देवताओं के समक्ष आपकी हाजिरी लग जाती है. मान्यता अनुसार घंटी बजाने से मंदिर में स्थापित देवी-देवताओं की मूर्तियों में चेतना जागृत होती है जिसके बाद उनकी पूजा और आराधना अधिक फलदायक और प्रभावशाली बन जाती है.

– घंटी की मनमोहक एवं कर्णप्रिय ध्वनि मन-मस्तिष्क को अध्यात्म भाव की ओर ले जाने का सामर्थ्य रखती है. मन घंटी की लय से जुड़कर शांति का अनुभव करता है. मंदिर में घंटी बजाने से मानव के कई जन्मों के पाप तक नष्ट हो जाते हैं. सुबह और शाम जब भी मंदिर में पूजा या आरती होती है तो एक लय और विशेष धुन के साथ घंटियां बजाई जाती हैं जिससे वहां मौजूद लोगों को शांति और दैवीय उपस्थिति की अनुभूति होती है.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *