धर्म, Latest Updates

पति की लम्बी आयु की कामना के बाद महिलाओं के लिए अब बारी है उनकी संतान एवं उसके लिए व्रत

Ahoi Astmi Vart

पति की लम्बी आयु की कामना के बाद महिलाओं के लिए अब बारी है उनकी संतान एवं उसके लिए व्रत ..

संतान की प्राप्ति एवं संतान सुख के लिए अहोई अष्टमी का व्रत किया जाता है। वर्ष 2020 में अहोई अष्टमी का व्रत 8 नवंबर को पड़ रहा है। महिलाये इस दिन पूरा दिन व्रत रखती है एवं सायकल में तारो को अर्घ्य देकर अपने इस व्रत को पूरा करती है। पौराणिक मान्यता है इस व्रत के करने से उन सभी लोगो की मुराद पूरी होती है जो अभी तक अपने जीवन में संतान सुख से वंचित रहे हो

अहोई अष्टमी का व्रत रखने का शुभ मुहूर्त:

इस व्रत का आरम्भ करवाचौथ के व्रत के बाद कार्तिक मास की अष्टमी के दिन से होता है वर्ष 2020 में अहोई अष्टमी का व्रत 8 नवम्बर को पड़ रहा है। इस दिन प्रातः कल 7 बजकर 29 मिनट से ये व्रत प्रारम्भ हो रहा है एवं दिनाक 9 नवंबर 2020 को प्रातःकाल 6 बजकर 50 मिनट पर इसका समापन होगा।
अहोई अष्टमी की पूजा का मुहूर्त 8 नवम्बर को शाम में 5:30 मिनट से 6 बजकर 50 मिनट तक है।

अहोई अष्टमी के व्रत रखने की संक्षिपत विधि:

इस व्रत की सुरुवात करने के लिए माताएं – बहिने प्रातःकाल जल्दी उठ कर एक सादे खाली मिटी के बर्तन को जल से भरकर रखती है इसके बाद एक दीवार पर अहोई माता की तस्वीर बनाई जाती है। फिर अहोई माता को ध्यान रखते हुए मन में मनन करते हुए संतान सुख और अपने संतान की दीर्घायु के लिए विधिपूर्वक पूजा करती है। इस दिन कुछ महिलाये निर्जला एवं कुछ महिलाये फलाहार करके इसकी पूजा करती है।

ऑनलाइन कुंडली विश्लेष के बारे में जानने के लिए क्लिक करे

अहोई अष्टमी के व्रत पर कुछ प्रथा :

बहुत से लोग इस व्रत के दिन एक धागे में अहोई और दोनों चांदी के कुछ दाने डालती है और उसके बाद प्रतिवर्ष इस धागे में चांदी के दाने और जोड़े जाने जैसी परम्परा भी है और इसके अलवा महिलाये अपने घर के उत्तरी दिशा में गाय के गोबर और चिकनी मिटी से से दिवार पर एक कलश की स्थापना भी करती है उसके बाद भगवन गणेश की पूजन अर्चना के बाद अहोई माता की पूजा करती है और उसके बाद उनको दूध शक़्कर और चावल का भोग भी लगाती है। और उसके पश्चात एक लकड़ी से बने चौकी पर कलश स्थापना कर कहानी कथा सुनाई जाती है।

 

अपने जीवन से जुडी किसी भी प्रकार की कठिन से कठिन समस्या के समाधान के लिए आप हमारे एस्ट्रो पोर्टल कुंडली स्पेशलिस्ट के माध्यम से अनुभवी ज्योतिषाचार्य से परामर्श कर समाधान पा सकते है।
अगर आप शादी में रुकावट जैसी समस्या से परेशान है तो दुनिया के फेमस अनुभवी ज्योतिषाचार्य  की टीम हमारे इस कुंडली स्पेशलिस्ट पोर्टल पर है उनसे परामर्श ले सकते है  |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *