Gems Stone

किस राशि के लिए शुभ और अशुभ होता है पुखराज

पुखराज रत्‍न गुरु का रत्‍न है। पुखराज रत्‍न धारण करने से कुंडली में बैठे गुरु के शुभ फल प्राप्‍त होते हैं। पुखराज रत्‍न पहनने से विवाह में आ रही देरी और परेशानियां भी दूर होती हैं। लेकिन गुरु के इस रत्‍न को धारण करने के लिए कुछ नियम और विशेष सावधानियां बताईं गईं हैं जिनका पालन कर आप इस रत्‍न के शुभ फल प्राप्‍त कर सकते हैं। आज हम बात करेंगें कि पुखराज रत्‍न किस राशि के लिए उत्तम रहता है और किस राशि को ये रत्‍न सूट नहीं करता।

मेष

मेष राशि का स्‍वामी मंगल ग्रह है और मंगल और गुरु के बीच अच्‍छे संबंध हैं। साथ ही गुरु का मेष राशि के नौवें और बारहवें भाव पर भी प्रभाव रहता है। अत: मेष राशि के जातक गुरु का रत्‍न पुखराज पहन सकते हैं। इस राशि को ये रत्‍न धारण करने से समृद्धि, बुद्धि और ज्ञान की प्राप्‍ति होगी।

वृषभ

वृषभ राशि का स्‍वामी ग्रह शुक्र है और इस ग्रह का गुरु के साथ सामान्‍य संबंध होता है। इसके अलावा गुरु, वृषभ राशि के आठवें और ग्‍यारहवें भाव का भी स्‍वामी है। वृषभ राशि के दूसरे, चौथे, पांचवे, नौवे, दसवें और ग्‍यारहवें भाव में गुरु हो तो उस व्‍यक्‍ति को आर्थिक मजबूती मिलती है। ये जातक पुखराज रत्‍न पहन सकते हैं।

Read Now:- ये रत्न बदल सकता है आपकी किस्मत को

मिथुन

गुरु और मिथुन राशि के स्‍वामी बुध के बीच भी बहुत अच्‍छे और बहुत बुरे संबंध नहीं हैं। गुरु के दूसरे, चौथे, पांचवे, सातवें और आठवें भाव में होने पर जातक को पुखराज रत्‍न जरूर धारण करना चाहिए।

कर्क

कर्क राशि का स्‍वामी चंद्रमा है और चंद्रमा का गुरु के साथ शांत और सौम्‍य संबंध है। गुरु के छठे और नौवे भाव में होने पर कर्क राशि के लग्‍न वाले व्‍यक्‍ति को पुखराज रत्‍न पहनने से फायदा होता है।

 

(6.50 Ratti) पुखराज रत्न आर्डर करने के लिए >> क्लिक करे >>  www.astroyatra.com

सिंह

सिंह राशि का स्‍वामी सूर्य है और सूर्य और गुरु के बीच सकारात्‍मक संबंध होता है। ये दोनों एक-दूसरे से मैत्री संबंध रखते हैं। गुरु के पांचवे और आठवें भाव के स्‍वामी होने पर सिंह राशि के लोगों को पुखराल पहनना चाहिए। इन्‍हें सूर्य के रत्‍न माणिक्‍य के साथ पुखराज पहनने से भी फायदा होता है।

कन्‍या

kanya rashi

कन्‍या का स्‍वामी ग्रह बुध है। बुध और गुरु के बीच मैत्री संबंध होने के कारण कन्‍या राशि के लोग पुखराज रत्‍न पहन सकते हैं।

तुला

तुला राशि का स्‍वामी शुक्र है एवं गुरु और शुक्र के मध्‍य सामान्‍य संबंध होने के कारण तुला राशि के लोगों को पुखराज रत्‍न बहुत ज्‍यादा फायदा नहीं पहुंचाता है।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि का स्‍वामी ग्रह मंगल है। गुरु और मंगन दोनों मैत्री संबंध रखते हैं। इस राशि के लोग लाल मूंगा के साथ पुखराज रत्‍न धारण कर सकते हैं।

धनु

गुरु इस राशि के चौथे भाव का स्‍वामी हो तो उस जातक को पुखराज रत्‍न पहनने से लाभ होता है। इसलिए इस राशि के लोग पुखराज रत्‍न पहन सकते हैं।

मकर

makar rashi

मकर राशि का स्‍वामी शनि है। शनि और गुरु के बीच शत्रु संबंध होने के कारण मकर राशि के लोगों को पुखराज रत्‍न नहीं पहनना चाहिए। ये रत्‍न आपको फायदे की जगह नुकसान दे सकता है।

कुंभ

कुंभ राशि का स्‍वामी शनि ग्रह है। शनि और गुरु के बीच शत्रु संबंध होने के कारण कुंभ राशि के लोगों को पुखराज रत्‍न नहीं पहनना चाहिए।

(8 Ratti) पुखराज रत्न आर्डर करने के लिए >> क्लिक करे >>  www.astroyatra.com

मीन

गुरु इस राशि के दसवें भाव का स्‍वामी हो तो बेहद शुभ फल प्रदान करता है। मीन राशि के लोगों को पुखराज रत्‍न सामान्‍य फल दे सकता है।|

 

Know your Aaj Ka Rashifal at Kundli Specialist

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *